कैसे करें सिनेमा में विज्ञापन?

cinema advertising

क्रिकेट, पॉलिटिक्स और सिनेमा- भारत में इनसे जुडी कोई भी खबर अपने आप बड़ी हो जाती है| भारतीय सिनेमा केवल अपने देश में नहीं पूरे जगत में विख्यात है |प्रत्येक शुक्रवार को सिनेमाघरों में जलसा लग जाता है जब भी कोई नयी फिल्म रिलीज़ होती है| ऐसे में ब्रांड्स भी कहाँ पीछे हटते हैं अपने ग्राहकों को लुभाने से| हाल ही में अगर आप सिनेमा हॉल गए हो तो गहनों, बैंक, कपड़ों, रियल एस्टेट, इंस्युरेन्स आदि के विज्ञापन तो ज़रूर देखे होंगे| अगर आप भी ऐसे किसी व्यवसाय से जुड़े हैं तो आपके मन में भी यह विचार आया होगा कि आप भी अपनी दुकान, रेस्टोरेंट, व्यवसाय, उत्पाद का प्रचार सिनेमाघरों में करें| इसके साथ कई सवाल भी पैदा हुए होंगे-

  • – सिनेमा विज्ञापन करना चाहिए या नहीं?
  • – सिनेमा विज्ञापन में कितने पैसे लगेंगे?
  • – सिनेमा विज्ञापन हेतु किसे संपर्क करना होगा?
  • – सिनेमा विज्ञापन से मेरे व्यवसाय को क्या फायदा होगा?
  • – क्या मेरी छोटी सी दुकान के लिए भी सिनेमा विज्ञापन ठीक रहेगा?

हमें कई बार ऐसे सवालों का सामना करना पड़ता है| इसीलिए हमने सोचा कि क्यों न इसपर एक आर्टिकल लिखा जाए जहाँ सभीके प्रश्नों का उत्तर देने की हम कोशिश करेंगे| यदि आपके मन में विज्ञापन से सम्बंधित कोई भी प्रश्न हैं, हमें कमेंट सेक्शन में पूछ लें|

Cinema Advertising offer

ब्रेकिंग न्यूज़: सिनेमा विज्ञापन पर ५० % की छूट | ऑफर केवल नवंबर २०१९ में मल्टीप्लेक्स में  रिलीज़ होने वाली फिल्मों पर|

अधिक जानें

कैसे होते हैं सिनेमा विज्ञापन?

सिनेमा विज्ञापन दो तरह से हो सकते हैं- सिनेमा के पर्दों पर (स्लाइड अथवा वीडियो विज्ञापन) और सिनेमाघर के अंदर (सीट बैक या पैम्फलेट के ज़रिये)| आम तौर पर विज्ञापक  सिनेमा के पर्दों पर विज्ञापन डालना अधिक पसंद करते हैं क्योंकि अधिकतम दर्शकों का ध्याम स्क्रीन पर ही रहता है| विज्ञापन के भिन्न माध्यमों के बारे में हम विस्तार से चर्चा करेंगे अगले भाग में|

सिनेमाघर भी दो प्रकार के होते हैं- सिंगल स्क्रीन यानि की वो सिनेमाघर जहाँ बस एक ही हॉल हो और एक वक़्त पर केवल एक ही फिल्म चल सकती है और मल्टीप्लेक्स जहाँ दो या अधिक स्क्रीन होते हैं| ऐसे सिनेमाघर में अक्सर हॉल के अलावा और भी सहूलियत होती हैं जैसे स्नैक्स व कोल्ड ड्रिंक खरीदने की दुकानें| यहाँ जनता अधिक पैसे खर्च करती है| यदि आप  अधिक आय वाले परिवारों को अपना विज्ञापन दिखाना चाहते हैं तो आपको मल्टीप्लेक्स में विज्ञापन देना चाहिए| भारत में चार सर्वाधिक लोकप्रिय मल्टीप्लेक्स ब्रांड हैं पीवीआर (PVR), आइनॉक्स (Inox), कार्निवाल (Carnival) और सिनेपोलिस (Cinepolis)|

भारत में सिनेमा विज्ञापन की बढ़ती लोकप्रियता 

cinema advertising in India

भारत में २०१८-२०१९ में लगभग २९५५ मल्टीप्लेक्स स्क्रीन और ६६४१ सिंगल स्क्रीन हैं| एक तरफ जहाँ सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों की संख्या कम हो रही है वहीँ मल्टीप्लेक्स की संख्या बढ़ रही है|  सिनेमा विज्ञापन के व्यवसाय में २०१९ में २०१८ की अपेक्षा २० प्रतिशत की बढ़त हुयी है | सिनेमा  विज्ञापन का २०१९ में भारत में मार्केट लगभग ११४० करोड़ का था| लोगों की आय बढ़ने और भारतीय सिनेमा में परिपक्वता आने की वजह से लोगों का सिनेमा हॉल जाने के प्रति रुझान बढ़ गया है|

क्यों करें सिनेमा में विज्ञापन?

सिनेमा विज्ञापक सिनेमा विज्ञापन के निम्नलिखित पहलूओं को सर्वाधिक पसंद करते हैं :

१. सिनेमा हॉल में दर्शकों का ध्यान सिर्फ सिनेमा परदे पर ही केंद्रित होता है| अन्य विज्ञापन माध्यमों की तरह यहाँ ध्यान में कोई खलल नहीं होती|

२. लोग अक्सर अपने दोस्तों अथवा परिवार के साथ सिनेमा देखने जाते हैं| सिनेमा विज्ञापन के माध्यम से विज्ञापक एक बड़े वर्ग को अपना विज्ञापन दिखा सकते हैं|

३. बड़े परदे पर विज्ञापन देखने का असर अधिक प्रभावशाली होता है|

४.अगर विज्ञापक अपने आसपास की जगह  या छोटे क्षेत्र में आनेवाले ग्राहकों को ही अपना विज्ञापन दिखाना चाहते हैं जैसे किसी एक मॉल में स्थित रेस्टोरेंट अपना विज्ञापन उस मॉल में आने वाले लोगों को दिखाना चाहेगा तो वो उस मॉल में स्थित सिनेमा हॉल में विज्ञापन डाल सकता है|

 

 कितने प्रकार के होते हैं सिनेमा विज्ञापन?

सिनेमा विज्ञापन मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं- ऑन-स्क्रीन और ऑफ-स्क्रीन|

ऑन-स्क्रीन सिनेमा विज्ञापन अधिक लोकप्रिय होते हैं और इनके दो विकल्प होते हैं

१. स्लाइड एड (slide ad): ये बस एक या एक से अधिक चित्रों का समूह होता है जो एक के बाद एक चलते हैं| इनके पीछे संगीत भी चलाया जा सकता है| इस विज्ञापन की लम्बाई १० सेकंड से लेकर ९० सेकंड तक हो सकता है|

२. वीडियो एड (video ad): इस तरह के विज्ञापन में १० सेकंड से लेकर ९० सेकंड तक की लम्बी वीडियो चलती है|

दोनों के बीच के अंतर को समझने के लिए इन दोनों के उदहारण कुछ इस प्रकार हैं:

ये विज्ञापन फिल्म शुरू होने के पहले और फिल्म के मध्यांतर में चलाये जाते हैं| कभी कभी ब्लॉकबस्टर या मेगा ब्लॉकबस्टर चलचित्रों के लिए सिनेमा विज्ञापन के दर अधिक होते हैं इसीलिए अपना सिनेमा विज्ञापन बुक करने से पहले विज्ञापन दर अच्छे से जान लें|

ऑफ़-स्क्रीन विज्ञापन के कई विकल्प हो सकते हैं| उनमें से सबसे लोकप्रिय हैं ये –

१. एलसीडी डिस्प्ले (LCD Display):  सिनेमा हॉल के बाहर लेकिन सिनेमा घर के अंदर कई जगह एलसीडी स्क्रीन लगी होती हैं जहाँ विज्ञापन चलते हैं|

२. सीट ब्रांडिंग (seat branding): सिनेमा हॉल में लगी सीट पर विज्ञापन लगाए जा सकते हैं सेटबैक के कवर के रूप में|

३. वाशरूम ब्रांडिंग (Washroom branding): सिनेमा घर के शौचालयों के दरवाज़ों पर पोस्टर चिपकाया जा सकता है|

४. प्रोडक्ट कीओस्क (Product kiosk): विज्ञापक अपने ब्रांड के प्रचार के लिए सिनेमा घर के अंदर डेस्क लगाते हैं जहाँ प्रचारक ग्राहकों से बात करते हैं व अपने उत्पाद के फायदे समझते हैं|

५. स्टैन्डी (standee): ये स्टैंड पर खड़े विज्ञापन पोस्टर होते हैं जो सिनेमा घरों में कई जगह रखे होते हैं|

इनके अलावा भी कई प्रकार के ऑफ-स्क्रीन सिनेमा विज्ञापन विकल्प होते हैं जिन्हे आप इस लिंक पर जा कर देख सकते हैं: themediaant.com/cinema

सिनेमा विज्ञापन दर 

सिनेमा विज्ञापन का दर प्रति सेकंड प्रति सप्ताह के हिसाब से लगाया जाता है |सिनेमा विज्ञापन दर हर जगह एक जैसे नहीं होते हैं|   सिनेमा विज्ञापन दर के हिसाब से बदलती हैं| ब्लॉकबस्टर और  ब्लॉकबस्टर फिल्मों के हिसाब से भी सिनेमा विज्ञापन के दर बदल सकते हैं|  यह दर शहर,  मल्टीप्लेक्स,स्क्रीन, सीट वगैरह के हिसाब से बदल सकता है| यह दर पता करने के लिए आप सिनेमा घरों  से भी बात कर सकते हैं लेकिन सबसे सुविधाजनक होगा हमारे वेबसाइट पर जा कर भारत के सभी सिनेमा घरों  के विज्ञापन दर पता करना. हमारे पास हर सिनेमा घर के लिए विज्ञापन के दर मौजूद हैं जिनकी आप वहीँ पर तुलना भी कर सकते हैं| सिनेमा विज्ञापन दर के लिए हमारे वेबसाइट लिंक पर क्लिक करें

आप हमें ईमेल भी कर सकते हैं : Help@TheMediaAnt.Com

 

 मीडिया ऐंटसिनेमा  विज्ञापन एजेंसी

द मीडिया ऐंट भारत की सबसे विश्वश्त सिनेमा विज्ञापन एजेंसी है| हम देश भर के सभी सिनेमाघरों में विज्ञापन देने में आपकी मदद कर सकते हैं| सिनेमा विज्ञापन के लिए द मीडिया ऐंट सबसे अच्छी सिनेमा विज्ञापन एजेंसी है क्योंकि:

  • आपकोसिनेमा विज्ञापन दर जानने के लिए किसी को संपर्क करने की ज़रूरत नहीं है| आप हमारी वेबसाइट पर सभी सिनेमाघरों  के विज्ञापन दर देख सकते हैं|
  • हमारेसिनेमा विज्ञापन दर सबसे कम हैं|
  • हमन सिर्फ आपके लिए सिनेमाघरों के साथ संपर्क कर सबसे कम दर पर कैंपेन बुक करते हैं, बल्कि हम पूरा प्रोजेक्ट स्वयं ही सँभालते हैं|
  • आपकोबस हमें स्लाइड या वीडियो  देना है| इतना ही नहीं, हम आपकी स्लाइड और वीडियो को सही फॉर्मेट में बदलने और वीडियो एड के लिए अनिवार्य सेंसर सर्टिफिकेट लाने में भी सहायता कर सकते हैं |

 

कैसे बुक करें  मीडिया ऐंट के साथ अपना सिनेमा विज्ञापन?

सबसे पहले वेब ब्राउज़र खोल कर उसपे टाइप करें या यहीं से क्लिक करें-

https://themediaant.com/cinema

आपको स्क्रीन की बायीं तरफ फिल्टर्स दिखेंगे जहाँ से आप शहर, सिनेमाघर और अन्य विकल्पों का चयन कर सकते हैं|

जगह: उदाहरण के लिए बैंगलोर

मीडिया ऑप्शन: वीडियो एड

सिनेमा चेन: आइनॉक्स

cinema advertising agency

अब इन सिनेमाघरों को आप दो रूप में देख सकते हैं- कार्ड (चित्र) के रूप में और लिस्ट (सूचि) के रूप में

cinema advertising agency in india

अपने पसंदीदा सिनेमा स्क्रीन चुन लें

cinema advertising agency

स्क्रीन के ऊपर दाएं तरफ + साइन पर क्लिक करें| इससे वह डैशबोर्ड पर चला जाएगा और आप एक साथ अपना आर्डर देख सकेंगे और उसे अपने हिसाब से बदल सकेंगे|

cinema advertising

कैंपेन को अपने हिसाब से बदलने के बाद आप नीचे दाएं तरफ दिए ” सेव टू डैशबोर्ड” पर क्लिक करें|

cinema advertising

एक बार कैंपेन सेव हो जाने पर आप उस कैंपेन पर जा कर उसे ईमेल /डाउनलोड कर सकते हैं| यदि आप चाहें तो ऑनलाइन पे कर के अपना कैंपेन बुक कर सकते हैं या हमें अपने डाउनलोड किये हुए प्लान को ईमेल कर सकते हैं- help@themediaant.com पर

cinema advertising

cinema advertising

अधिक जानकारी के लिए आप हमें मेल कर सकते हैं- Help@TheMediaAnt.Com या कॉल कर सकते हैं 080-67415510 पर|

Was this article helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *